पत्नी का हत्यारा पति पहुंचा जेल

चरित्रिक शंका के कारण हुई महिला की हत्या

- Advertisement -

केवलारी- थाना क्षेत्र के ग्राम पाथरफौडी में दिनांक 7 सितंबर 2021 को प्रातः महिला की हत्या का समाचार मिलते ही थाना प्रभारी एस डी सनोडिया अपने सहकर्मियों के साथ गांव पहुंचने पर जानकारी मिली कि सुबह-सुबह सीताबाई मर्सकोले लघु शंका के बाद घर वापस आने पर उसका पति लक्ष्मण मर्सकोले पत्नी सीता मर्सकोले के चरित्रिक शंका पर लड़ाई झगड़ा करते हुए लोहे की साबल से सिर ,आंख में वार किया था जिससे उसकी मौत हो गई लड़के की मां श्रीमती इमरतो बाई पति निरपत मर्सकोले उम्र 55 वर्ष ने थाना प्रभारी को बताया कि मेरा पुत्र लक्ष्मण मेरी बहू सीता पर हमेशा चरित्रिक शंका करता था बाहर आने जाने पर शंका की निगाहों से देखता था, मारपीट करता था, आज सुबह भी बहू जब नित्य क्रिया कर्म से घर वापस आयी तो झगड़ा करते हुए सब्बल से बार कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई। मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी ने तत्काल लक्ष्मण को गिरफ्तार कर प्रकरण क्रमांक 483 /21 आईपीसी की धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर न्यायालय में प्रस्तुत किया जहां से उसे श्रीमान न्यायालय ने जेल भेज दिया ।मृतिका के शव का पोस्टमार्टम उपरांत शव को परिजनों को सौंपा दिए जाने के बाद अंतिम संस्कार किया गया हत्या की सूचना पर पुलिस की त्वरित कार्रवाई निश्चित ही संवेदनशीलता कार्य श्रेणी में आती है।

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

 

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

चरित्रिक शंका के कारण हुई महिला की हत्या

केवलारी- थाना क्षेत्र के ग्राम पाथरफौडी में दिनांक 7 सितंबर 2021 को प्रातः महिला की हत्या का समाचार मिलते ही थाना प्रभारी एस डी सनोडिया अपने सहकर्मियों के साथ गांव पहुंचने पर जानकारी मिली कि सुबह-सुबह सीताबाई मर्सकोले लघु शंका के बाद घर वापस आने पर उसका पति लक्ष्मण मर्सकोले पत्नी सीता मर्सकोले के चरित्रिक शंका पर लड़ाई झगड़ा करते हुए लोहे की साबल से सिर ,आंख में वार किया था जिससे उसकी मौत हो गई लड़के की मां श्रीमती इमरतो बाई पति निरपत मर्सकोले उम्र 55 वर्ष ने थाना प्रभारी को बताया कि मेरा पुत्र लक्ष्मण मेरी बहू सीता पर हमेशा चरित्रिक शंका करता था बाहर आने जाने पर शंका की निगाहों से देखता था, मारपीट करता था, आज सुबह भी बहू जब नित्य क्रिया कर्म से घर वापस आयी तो झगड़ा करते हुए सब्बल से बार कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई। मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी ने तत्काल लक्ष्मण को गिरफ्तार कर प्रकरण क्रमांक 483 /21 आईपीसी की धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर न्यायालय में प्रस्तुत किया जहां से उसे श्रीमान न्यायालय ने जेल भेज दिया ।मृतिका के शव का पोस्टमार्टम उपरांत शव को परिजनों को सौंपा दिए जाने के बाद अंतिम संस्कार किया गया हत्या की सूचना पर पुलिस की त्वरित कार्रवाई निश्चित ही संवेदनशीलता कार्य श्रेणी में आती है।

[avatar]