मिनरल वाटर की बोतलों पर मैन्युफैक्चरिंग व एक्सपायरी डेट क्यों नहीं लिखी जाती

- Advertisement -

संवाददाता – नितेन्द्र डेहरिया

विश्‍व जल दिवस पर विशेष लेख

केवलारी। विश्‍व जल दिवस 22 मार्च को मनाया जाता है, इसका उद्देश्य विश्‍व के सभी देशों में स्वच्छ एवं सुरक्षित जल की उपलब्धता सुनिश्चित करवाना है। साथ ही जल संरक्षण के महत्व पर भी ध्यान केंद्रित करना है। ब्राजील में रियो डी जेनेरियो में वर्ष 1992 में संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन द्वारा आयोजित कार्यक्रम में विश्‍व जल दिवस मनाने की पहल की गई थी तथा वर्ष 1993 में संयुक्त राष्ट्र ने अपने सामान्य सभा के द्वारा निर्णय लेकर इस दिन को वार्षिक कार्यक्रम के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। इस कार्यक्रम का उद्देश्य लोगों के बीच में जल संरक्षण का महत्व साफ पीने योग्य जल का महत्व आदि बताना था।

मैन्युफैक्चरिंग व एक्सपायरी डेट नहीं लिखी जाती आखिर क्यों?

मिनरल वाटर की बोतलों में पानी कितने दिनों पहले भरा जाता है यह तो पता नहीं क्योंकि उसमें मैन्युफैक्चरिंग व एक्सपायरी डेट नहीं लिखी जाती, तो हो सकता है वह पानी बहुत पुराना हो? और जब पानी बहुत पुराना हो जाता है तो वह कितना भी मिनरल हो वह दूषित होगा ही। मिनरल वाटर की बोतलों पर मैन्युफैक्चरिंग व एक्सपायरी डेट क्यों नहीं लिखी जाती है ये तो सरकार व संबंधित विभाग के अधिकारी कर्मचारी ही जाने लेकिन सरकारों को इस पर ध्यान देना चाहिए, ताकि स्वच्छ पानी सभी को मिले।

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

 
Sorry, there are no polls available at the moment.

संवाददाता – नितेन्द्र डेहरिया

विश्‍व जल दिवस पर विशेष लेख

केवलारी। विश्‍व जल दिवस 22 मार्च को मनाया जाता है, इसका उद्देश्य विश्‍व के सभी देशों में स्वच्छ एवं सुरक्षित जल की उपलब्धता सुनिश्चित करवाना है। साथ ही जल संरक्षण के महत्व पर भी ध्यान केंद्रित करना है। ब्राजील में रियो डी जेनेरियो में वर्ष 1992 में संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन द्वारा आयोजित कार्यक्रम में विश्‍व जल दिवस मनाने की पहल की गई थी तथा वर्ष 1993 में संयुक्त राष्ट्र ने अपने सामान्य सभा के द्वारा निर्णय लेकर इस दिन को वार्षिक कार्यक्रम के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। इस कार्यक्रम का उद्देश्य लोगों के बीच में जल संरक्षण का महत्व साफ पीने योग्य जल का महत्व आदि बताना था।

मैन्युफैक्चरिंग व एक्सपायरी डेट नहीं लिखी जाती आखिर क्यों?

मिनरल वाटर की बोतलों में पानी कितने दिनों पहले भरा जाता है यह तो पता नहीं क्योंकि उसमें मैन्युफैक्चरिंग व एक्सपायरी डेट नहीं लिखी जाती, तो हो सकता है वह पानी बहुत पुराना हो? और जब पानी बहुत पुराना हो जाता है तो वह कितना भी मिनरल हो वह दूषित होगा ही। मिनरल वाटर की बोतलों पर मैन्युफैक्चरिंग व एक्सपायरी डेट क्यों नहीं लिखी जाती है ये तो सरकार व संबंधित विभाग के अधिकारी कर्मचारी ही जाने लेकिन सरकारों को इस पर ध्यान देना चाहिए, ताकि स्वच्छ पानी सभी को मिले।

[avatar]