केवलारी के लालोपार में आई बाढ़, जान जोखिम में डाल ग्रामीणों ने किया पुल पार

- Advertisement -

सिवनी। विकासखंड केवलारी अंतर्गत गांव लोपा से केवलारी जाने वाले मार्ग पर धानागाड़ा के समीप लालोपार, सरेखा, मोहगांव के बीच पड़ने वाले रपटानुमा पुल तेज बारिश से दोपहर 3 बजे डूब गया। लगभग 4 घंटे तक मार्ग पूरी तरह से अवरुद्ध रहा।

पुल के दोनों तरफ बड़ी संख्या में लोग खड़े रहे वहीं कुछ लोगों ने जान जोखिम में डालकर बाढ़ में डूबे पुल वह तेज बहाव के पानी की परवाह किए बिना ही पुल पार करते नजर आए। हालांकि यह खतरा हो सकता था यह तो गनीमत अच्छी रहेगी सब लोग एकजुट होकर एक दूसरे का हाथ पकड़कर धीरे-धीरे पुल पार करने में सफल हुए पुल पार करने के दौरान कई लोगों ने मना किया था लेकिन उन्होंने जान जोखिम रख पुल को धीरे धीरे पार कर ही लिया।

जिले में मंगलवार-बुधवार की पूरी रात वर्षा का दौर जारी रहा है। वहीं पड़ोसी जिलों में हो रही बारिश से भीमगढ़ बांध में पानी का जल स्तर बढ़ रहा है। इससे देखते हुए मंगलवार शाम चार बजे खोले गए भीमगढ़ के चार गेटों की ऊंचाई बुधवार सुबह आधा-आधा मीटर बढ़ा दी गई है। अब बांध के गेट को 6 मीटर खोलकर 30 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। वर्तमान में संजय सरोवर भीमगढ़ बांध का जलस्तर 517.90 मीटर है।

हालांकि सुबह सात बजे के बाद से जिला मुख्यालय में सहित आसपास के क्षेत्रों में वर्षा थम गई है, लेकिन आसमान में बादलों ने डेरा जमा रखा है। भीमगढ़ बांध से छोड़े जा रहे पानी के कारण बहाव क्षेत्र से जुड़े गांव व नदी के निचले इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। दो साल पहले भारी वर्षा के बीच अचानक बांध के गेट खोलने के कारण भीमगढ़ क्षेत्र के रहवासियों को बड़ी त्रासदी का सामना करना पड़ा था, जिसके घाव अभी तक नहीं भरे हैं। भीमगढ़ बांध के अधिकारियों का कहना है कि, फिलहाल बांध में पानी का स्तर सेफ जोन में है

कार्यालय भू-अभिलेख से प्राप्त जानकारी अनुसार 1 जून से 10 अगस्त तक जिले के कुल 8 विकासखण्डों में 836.1 औसत वर्षा दर्ज हुई है। जिसमें विकासखण्ड सिवनी में 882.4 मि.मी., कुरई में 938.0 मि.मी., बरघाट में 1089.0 मि.मी., केवलारी में 778.5 मि.मी., छपारा में 873.7 मि.मी., लखनादौन में 760.8 मि.मी., धनौरा में 680.1 मि.मी. तथा घंसौर विकासखण्ड में 686.1 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई है। इस प्रकार जिले में कुल 6688.6 मि.मी. वर्षा दर्ज हुई है। उल्लेखनीय है कि विगत 10 अगस्त 2021 को जिले में कुल 3838.6 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई थी।

 

 

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

 
Sorry, there are no polls available at the moment.

सिवनी। विकासखंड केवलारी अंतर्गत गांव लोपा से केवलारी जाने वाले मार्ग पर धानागाड़ा के समीप लालोपार, सरेखा, मोहगांव के बीच पड़ने वाले रपटानुमा पुल तेज बारिश से दोपहर 3 बजे डूब गया। लगभग 4 घंटे तक मार्ग पूरी तरह से अवरुद्ध रहा।

पुल के दोनों तरफ बड़ी संख्या में लोग खड़े रहे वहीं कुछ लोगों ने जान जोखिम में डालकर बाढ़ में डूबे पुल वह तेज बहाव के पानी की परवाह किए बिना ही पुल पार करते नजर आए। हालांकि यह खतरा हो सकता था यह तो गनीमत अच्छी रहेगी सब लोग एकजुट होकर एक दूसरे का हाथ पकड़कर धीरे-धीरे पुल पार करने में सफल हुए पुल पार करने के दौरान कई लोगों ने मना किया था लेकिन उन्होंने जान जोखिम रख पुल को धीरे धीरे पार कर ही लिया।

जिले में मंगलवार-बुधवार की पूरी रात वर्षा का दौर जारी रहा है। वहीं पड़ोसी जिलों में हो रही बारिश से भीमगढ़ बांध में पानी का जल स्तर बढ़ रहा है। इससे देखते हुए मंगलवार शाम चार बजे खोले गए भीमगढ़ के चार गेटों की ऊंचाई बुधवार सुबह आधा-आधा मीटर बढ़ा दी गई है। अब बांध के गेट को 6 मीटर खोलकर 30 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। वर्तमान में संजय सरोवर भीमगढ़ बांध का जलस्तर 517.90 मीटर है।

हालांकि सुबह सात बजे के बाद से जिला मुख्यालय में सहित आसपास के क्षेत्रों में वर्षा थम गई है, लेकिन आसमान में बादलों ने डेरा जमा रखा है। भीमगढ़ बांध से छोड़े जा रहे पानी के कारण बहाव क्षेत्र से जुड़े गांव व नदी के निचले इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। दो साल पहले भारी वर्षा के बीच अचानक बांध के गेट खोलने के कारण भीमगढ़ क्षेत्र के रहवासियों को बड़ी त्रासदी का सामना करना पड़ा था, जिसके घाव अभी तक नहीं भरे हैं। भीमगढ़ बांध के अधिकारियों का कहना है कि, फिलहाल बांध में पानी का स्तर सेफ जोन में है

कार्यालय भू-अभिलेख से प्राप्त जानकारी अनुसार 1 जून से 10 अगस्त तक जिले के कुल 8 विकासखण्डों में 836.1 औसत वर्षा दर्ज हुई है। जिसमें विकासखण्ड सिवनी में 882.4 मि.मी., कुरई में 938.0 मि.मी., बरघाट में 1089.0 मि.मी., केवलारी में 778.5 मि.मी., छपारा में 873.7 मि.मी., लखनादौन में 760.8 मि.मी., धनौरा में 680.1 मि.मी. तथा घंसौर विकासखण्ड में 686.1 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई है। इस प्रकार जिले में कुल 6688.6 मि.मी. वर्षा दर्ज हुई है। उल्लेखनीय है कि विगत 10 अगस्त 2021 को जिले में कुल 3838.6 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई थी।

 

 

[avatar]