शिक्षक दिवस पर लंबित मांगों को लेकर राज्य शिक्षक संघ ने आंदोलन का किया शंखनाद

राज्य शिक्षक संघ ने आज हर ब्लाक में ज्ञापन सौंपा, 24 को जिला स्तर पर धरना प्रदर्शन

- Advertisement -

सिवनी। शिक्षा विभाग में पुरानी पेंशन स्कीम, पदोन्नति, क्रमोन्नति, अनुकंपा नियुक्ति और वरिष्ठता पर सरकार की हीलाहवाली से नाराज राज्य शिक्षक संघ ने अब सड़क पर आने के लिए आंदोलन का बिगुल फूंक दिया है। प्रदेश के साथ ही जिले में 5 सितंबर को शिक्षक दिवस से आंदोलन शुरू होकर 2 अक्टूबर को गांधी जयंती तक चलेगा। 24 सितंबर को जिलास्तर पर धरना प्रदर्शन होगा। 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के मौके पर प्रदेशभर से शिक्षक भोपाल की सड़कों पर विशाल सत्याग्रह रैली में भागीदारी करेंगे। 5सितंबर से 2 अक्टूबर के बीच ब्लॉक व जिला कार्यकारिणी के पदाधिकारी क्षेत्र के सांसद, विधायकों व स्थानीय निकाय के अध्यक्षों से पुरानी पेंशन बहाली के समर्थन में पत्र लिखवाए जाएंगे। 5 सितंबर से पेंशन सत्याग्रह न्याय यात्रा जिले से प्रारंभ होकर 2 अक्टूबर को भोपाल में विशाल प्रदर्शन होगा।

राज्य शिक्षा सेवा संवर्ग अन्तर्गत नियुक्त एवं कार्यरत शिक्षक संवर्ग ने आज सोमवार को राज्य स्तरीय मांगों एवं समस्याओं के निराकरण के लिए एकजुट होकर नगर में रैली निकालते हुए कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंच अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा।

उन्होंने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बताया कि प्रदेश के एन. पी. एस. योजनान्तर्गत सम्मिलित समस्त लोक सेवकों को पुरानी पेंशन योजना का लाभ प्रदान किया जाये।

2-राज्य शिक्षा संवर्ग के शिक्षकों की स्थगित क्रमोन्नति पर रोक हटाते हुए अविलम्ब क्रमोन्नति आदेश जारी किये जाये।

3.माननीय न्यायालय के निर्णय से प्रभावित रुकी हुई पदोन्नति के लाभ दिये जाने पर विधि सम्मत विचार कर पदोन्नति का लाभ दिया जाये ।

4-राज्य शिक्षा सेवा संवर्ग में सम्मिलित समस्त शिक्षकों (शिक्षाकर्मी, संविदा शिक्षक, अध्यापक एवं गुरूजी) की वरिष्ठता संबंधी असमंजस को दूर करते हुये सभी शिक्षकों को प्रथम नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता का लाभ दिया जाये ।

5-क्रमोन्नति प्राप्त शिक्षकों को अगले पद का पदनाम दिया जाये।

6-नवीन शिक्षक संवर्ग में कृषि / होम साईस तथा अन्य शेष विषय अध्यापक वर्ग -02 के शिक्षकों सहित तीन वर्गों के अध्यापकों के लंबित नवीन शिक्षक संवर्ग में नियुक्ति आदेश जारी किये जाये।

7-.छठवें वेतनमान एवं सातवें वेतनमान की विसंगतियों में सुधार किया जाये ।

8-अनुकम्पा नियुक्ति नियमों का उचित शिथिलीकरण एवं संशोधन करते हुये अभी तक जिन लोक सेवकों के परिवार को अनुकंपा नियुक्ति प्राप्त नहीं हुई है एक माह के अंदर विभागीय शिविर आयोजित कर लंबित प्रकरणों में पात्र लोगों को अनुकम्पा नियुक्ति दी जाये ।

9-केन्द्र के समान निर्धारित माह से महंगाई भत्ते का लाभ दिया जाये।

10- स्वयं के व्यय से डी.एड., बी.एड. करने वाले शिक्षकों को अतिरिक्त वेतन वृद्धि का लाभ दिया जाये ।

11-वेतन निर्धारण प्रक्रिया में ग्रीन कार्डधारक शिक्षकों की समायोजित वेतन वृद्धि की पृथक से गणना करते हुये लाभ दिया जाये ।

12-निर्वाचन कार्य में संलग्न बी.एल.ओ. के पद पर नियुक्त शिक्षकों को बी.एल. ओ. के दायित्व से मुक्त करते हुये अन्य विभाग के लोकसेवकों को बी.एल.ओ. बनाया जाये ताकि शिक्षा की गुणवत्ता प्रभावित न हो ।

13- नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति तिथि से 100% वेतन भुगतान के साथ परिवीक्षा अवधि 3 वर्ष के स्थान पर 2 वर्ष की जाए।

अतः महोदयजी से विनम्र अनुरोध है कि उक्त मांगों एवं समस्याओं का शासन स्तर पर उचित निराकरण कर प्रदेश के लाखों शिक्षकों को लाभांवित करेगें । हम सदैव आपके आभारी रहेगें। राज्य शिक्षक संघ म प्र के निर्णय के अनुसार समय रहते मांगो का निराकरण न होने पर आगामी 24 सितंबर 2022 को जिला स्तर पर धरना ज्ञापन प्रदर्शन किया जाएगा।

प्रांताध्यक्ष के निलंबन से शिक्षको में आक्रोश

पुरानी पेंशन कों लेकर प्रदेश में लगातार कर्मचारियों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। राज्य शिक्षक संघ मप्र के आह्वान पर पुरे मध्यप्रदेश में आज ब्लॉक स्तर पर धरना ज्ञापन देकर पुरानी पेंशन की मांग की गई। जिला अध्यक्ष विपनेश जैन में बताया की सिवनी जिले के सभी विकास खंडो में ब्लॉक अध्यक्ष के नेतृत्व में मुख्यमंत्री मप्र शासन के नाम ज्ञापन सौपा गया।कार्यकारी अध्यक्ष गजेंद्र बघेल ने बताया की नवीन नियुक्त शिक्षको के समर्थन में उनके हितो की बात रखने पर प्रांताध्यक्ष श्री जगदीश यादव का निलंबन कर दिया गया जिससे पुरे शिक्षक जगत में आक्रोश व्याप्त हो गया है। समस्त शिक्षको ने जगदीश यादव का निलंबन तत्काल वापस लेने की मांग शासन की है।

ज्ञापन सोपते समय जिला अध्यक्ष विपनेश जैन,ब्लॉक अध्यक्ष सिवनी बृजमोहन,राकेश दुबे, रामकृष्ण दुबे, सुनील तिवारी,गुमान बघेल,सुरेन्द्र दुबे, हेमंत मरावी, राजेश राय,समसुन्न निशा,आरती पांडे,स्नेहलता डहरिया, कुसुम पाटिल,रेवता राहंगडाले, प्रेमलता शुक्ला, मुक्ता जैन, कीर्ति डहेरिया, संगीता मिश्रा, कल्पना उपाध्याय, रंजना चौहान, संध्या राय,सफीना खान , सायरा खुर्शीद, सुनीता ओसवाल,रेखा शर्मा, सीमा सोनी आदि मौजूद थे।

बरघाट

शिक्षकों ने वरिष्ठता एवं पुरानी पेंशन हेतु सौंपा ज्ञापन आज दिनांक 5 सितंबर 2022 को राज्य शिक्षक संघ के प्रांतीय आह्वान पर शिक्षक दिवस पर शिक्षक संवर्ग की मांगों के निराकरण हेतु मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन तहसीलदार बरघाट को सौंपा गया। जिसमें प्रमुख रुप से शिक्षकों को नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता एवं पुरानी पेंशन का लाभ प्रदान करने एवं प्रांतीय अध्यक्ष जगदीश यादव के निलंबन को वापस लेने की मांग की गई। इस अवसर पर राज शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष परसराम देशमुख, सचिव चंद्र कुमार बघेल, कोषाध्यक्ष योगेंद्र भैरम, जिला प्रतिनिधि संतोष पारदी, ब्लॉक उपाध्यक्ष हेम नारायण साहू, पुरुषोत्तम रंगडाले, महेंद्र सिंह राजपूत, सुनील ठाकुर, अनिल अवधवाल, इंदर परते, अफरोज खान, जयराम वेद, विजय बिसेन, सुरेश ठाकरे, सूर्यकांत धुर्वे, भाऊ दास, शिवराज बनवाले, दिमागचंद तुद्दाम महिला शक्ति की ओर से श्रीमती सावित्री उइके, महिला मोर्चा अध्यक्ष श्रीमती सलमा खान, दीप्ति ठाकुर, प्रियंका धुर्वे, प्रभा भैरम, शशि कला साहू, अनीता पारदी, काशीराम फुलवंशी, धीरेंद्र रंगहडाले, दुर्गा प्रसाद परते, नंदू बिसेन, गंगाराम इनवाती, प्रेम श्रीवास्तव आदि सैकड़ों शिक्षक साथियों ने उपस्थित रहकर ज्ञापन सौंपने में अपना योगदान प्रदान किया।

 

 

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

 
Sorry, there are no polls available at the moment.

राज्य शिक्षक संघ ने आज हर ब्लाक में ज्ञापन सौंपा, 24 को जिला स्तर पर धरना प्रदर्शन

सिवनी। शिक्षा विभाग में पुरानी पेंशन स्कीम, पदोन्नति, क्रमोन्नति, अनुकंपा नियुक्ति और वरिष्ठता पर सरकार की हीलाहवाली से नाराज राज्य शिक्षक संघ ने अब सड़क पर आने के लिए आंदोलन का बिगुल फूंक दिया है। प्रदेश के साथ ही जिले में 5 सितंबर को शिक्षक दिवस से आंदोलन शुरू होकर 2 अक्टूबर को गांधी जयंती तक चलेगा। 24 सितंबर को जिलास्तर पर धरना प्रदर्शन होगा। 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के मौके पर प्रदेशभर से शिक्षक भोपाल की सड़कों पर विशाल सत्याग्रह रैली में भागीदारी करेंगे। 5सितंबर से 2 अक्टूबर के बीच ब्लॉक व जिला कार्यकारिणी के पदाधिकारी क्षेत्र के सांसद, विधायकों व स्थानीय निकाय के अध्यक्षों से पुरानी पेंशन बहाली के समर्थन में पत्र लिखवाए जाएंगे। 5 सितंबर से पेंशन सत्याग्रह न्याय यात्रा जिले से प्रारंभ होकर 2 अक्टूबर को भोपाल में विशाल प्रदर्शन होगा।

राज्य शिक्षा सेवा संवर्ग अन्तर्गत नियुक्त एवं कार्यरत शिक्षक संवर्ग ने आज सोमवार को राज्य स्तरीय मांगों एवं समस्याओं के निराकरण के लिए एकजुट होकर नगर में रैली निकालते हुए कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंच अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा।

उन्होंने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बताया कि प्रदेश के एन. पी. एस. योजनान्तर्गत सम्मिलित समस्त लोक सेवकों को पुरानी पेंशन योजना का लाभ प्रदान किया जाये।

2-राज्य शिक्षा संवर्ग के शिक्षकों की स्थगित क्रमोन्नति पर रोक हटाते हुए अविलम्ब क्रमोन्नति आदेश जारी किये जाये।

3.माननीय न्यायालय के निर्णय से प्रभावित रुकी हुई पदोन्नति के लाभ दिये जाने पर विधि सम्मत विचार कर पदोन्नति का लाभ दिया जाये ।

4-राज्य शिक्षा सेवा संवर्ग में सम्मिलित समस्त शिक्षकों (शिक्षाकर्मी, संविदा शिक्षक, अध्यापक एवं गुरूजी) की वरिष्ठता संबंधी असमंजस को दूर करते हुये सभी शिक्षकों को प्रथम नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता का लाभ दिया जाये ।

5-क्रमोन्नति प्राप्त शिक्षकों को अगले पद का पदनाम दिया जाये।

6-नवीन शिक्षक संवर्ग में कृषि / होम साईस तथा अन्य शेष विषय अध्यापक वर्ग -02 के शिक्षकों सहित तीन वर्गों के अध्यापकों के लंबित नवीन शिक्षक संवर्ग में नियुक्ति आदेश जारी किये जाये।

7-.छठवें वेतनमान एवं सातवें वेतनमान की विसंगतियों में सुधार किया जाये ।

8-अनुकम्पा नियुक्ति नियमों का उचित शिथिलीकरण एवं संशोधन करते हुये अभी तक जिन लोक सेवकों के परिवार को अनुकंपा नियुक्ति प्राप्त नहीं हुई है एक माह के अंदर विभागीय शिविर आयोजित कर लंबित प्रकरणों में पात्र लोगों को अनुकम्पा नियुक्ति दी जाये ।

9-केन्द्र के समान निर्धारित माह से महंगाई भत्ते का लाभ दिया जाये।

10- स्वयं के व्यय से डी.एड., बी.एड. करने वाले शिक्षकों को अतिरिक्त वेतन वृद्धि का लाभ दिया जाये ।

11-वेतन निर्धारण प्रक्रिया में ग्रीन कार्डधारक शिक्षकों की समायोजित वेतन वृद्धि की पृथक से गणना करते हुये लाभ दिया जाये ।

12-निर्वाचन कार्य में संलग्न बी.एल.ओ. के पद पर नियुक्त शिक्षकों को बी.एल. ओ. के दायित्व से मुक्त करते हुये अन्य विभाग के लोकसेवकों को बी.एल.ओ. बनाया जाये ताकि शिक्षा की गुणवत्ता प्रभावित न हो ।

13- नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति तिथि से 100% वेतन भुगतान के साथ परिवीक्षा अवधि 3 वर्ष के स्थान पर 2 वर्ष की जाए।

अतः महोदयजी से विनम्र अनुरोध है कि उक्त मांगों एवं समस्याओं का शासन स्तर पर उचित निराकरण कर प्रदेश के लाखों शिक्षकों को लाभांवित करेगें । हम सदैव आपके आभारी रहेगें। राज्य शिक्षक संघ म प्र के निर्णय के अनुसार समय रहते मांगो का निराकरण न होने पर आगामी 24 सितंबर 2022 को जिला स्तर पर धरना ज्ञापन प्रदर्शन किया जाएगा।

प्रांताध्यक्ष के निलंबन से शिक्षको में आक्रोश

पुरानी पेंशन कों लेकर प्रदेश में लगातार कर्मचारियों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। राज्य शिक्षक संघ मप्र के आह्वान पर पुरे मध्यप्रदेश में आज ब्लॉक स्तर पर धरना ज्ञापन देकर पुरानी पेंशन की मांग की गई। जिला अध्यक्ष विपनेश जैन में बताया की सिवनी जिले के सभी विकास खंडो में ब्लॉक अध्यक्ष के नेतृत्व में मुख्यमंत्री मप्र शासन के नाम ज्ञापन सौपा गया।कार्यकारी अध्यक्ष गजेंद्र बघेल ने बताया की नवीन नियुक्त शिक्षको के समर्थन में उनके हितो की बात रखने पर प्रांताध्यक्ष श्री जगदीश यादव का निलंबन कर दिया गया जिससे पुरे शिक्षक जगत में आक्रोश व्याप्त हो गया है। समस्त शिक्षको ने जगदीश यादव का निलंबन तत्काल वापस लेने की मांग शासन की है।

ज्ञापन सोपते समय जिला अध्यक्ष विपनेश जैन,ब्लॉक अध्यक्ष सिवनी बृजमोहन,राकेश दुबे, रामकृष्ण दुबे, सुनील तिवारी,गुमान बघेल,सुरेन्द्र दुबे, हेमंत मरावी, राजेश राय,समसुन्न निशा,आरती पांडे,स्नेहलता डहरिया, कुसुम पाटिल,रेवता राहंगडाले, प्रेमलता शुक्ला, मुक्ता जैन, कीर्ति डहेरिया, संगीता मिश्रा, कल्पना उपाध्याय, रंजना चौहान, संध्या राय,सफीना खान , सायरा खुर्शीद, सुनीता ओसवाल,रेखा शर्मा, सीमा सोनी आदि मौजूद थे।

बरघाट

शिक्षकों ने वरिष्ठता एवं पुरानी पेंशन हेतु सौंपा ज्ञापन आज दिनांक 5 सितंबर 2022 को राज्य शिक्षक संघ के प्रांतीय आह्वान पर शिक्षक दिवस पर शिक्षक संवर्ग की मांगों के निराकरण हेतु मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन तहसीलदार बरघाट को सौंपा गया। जिसमें प्रमुख रुप से शिक्षकों को नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता एवं पुरानी पेंशन का लाभ प्रदान करने एवं प्रांतीय अध्यक्ष जगदीश यादव के निलंबन को वापस लेने की मांग की गई। इस अवसर पर राज शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष परसराम देशमुख, सचिव चंद्र कुमार बघेल, कोषाध्यक्ष योगेंद्र भैरम, जिला प्रतिनिधि संतोष पारदी, ब्लॉक उपाध्यक्ष हेम नारायण साहू, पुरुषोत्तम रंगडाले, महेंद्र सिंह राजपूत, सुनील ठाकुर, अनिल अवधवाल, इंदर परते, अफरोज खान, जयराम वेद, विजय बिसेन, सुरेश ठाकरे, सूर्यकांत धुर्वे, भाऊ दास, शिवराज बनवाले, दिमागचंद तुद्दाम महिला शक्ति की ओर से श्रीमती सावित्री उइके, महिला मोर्चा अध्यक्ष श्रीमती सलमा खान, दीप्ति ठाकुर, प्रियंका धुर्वे, प्रभा भैरम, शशि कला साहू, अनीता पारदी, काशीराम फुलवंशी, धीरेंद्र रंगहडाले, दुर्गा प्रसाद परते, नंदू बिसेन, गंगाराम इनवाती, प्रेम श्रीवास्तव आदि सैकड़ों शिक्षक साथियों ने उपस्थित रहकर ज्ञापन सौंपने में अपना योगदान प्रदान किया।

 

 

[avatar]