गरबे में होता है लव जिहाद अब बिना ID नो एंट्री! उषा ठाकुर का बड़ा बयान

शिवराज सरकार की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने लव जिहाद को लेकर दिया बड़ा बयान उन्होंने कहा कि गरबा लव जिहाद का बड़ा माध्यम बन गया है

- Advertisement -

भोपाल। लव जिहाद के मामले को लेकर मध्य प्रदेश सरकार की संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने ग्वालियर में एक बड़ा बयान दिया है। संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने कहा है कि गरबा पंडाल लव जिहाद का सबसे बड़ा माध्यम बन गया है इसलिए बिना पहचान पत्र के गरबा पंडाल के अंदर कोई भी अब प्रवेश नहीं कर सकता है। मंत्री उषा ठाकुर गुरुवार को ग्वालियर पहुंची हुई थीं और यहां वे मीडिया से चर्चा कर रही थीं।

कार्यक्रम में शामिल होने ग्वालियर पहुंची थी पर्यटन मंत्री

मध्य प्रदेश सरकार की संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर गुरुवार को ग्वालियर पहुंची थीं। ग्वालियर से उन्हें दतिया जिले में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए जाना था। ग्वालियर पहुंचने पर उनके समर्थकों ने उनका स्वागत किया और यहीं पर पर्यटन मंत्री ने मीडिया से भी बातचीत की। उन्होंने कहा कि सभी लोग सजग और सतर्क रहे गरबे में अब जो भी आए वह अपना परिचय पत्र लेकर आए, बिना परिचय पत्र के वह गरबे में प्रवेश नहीं कर सकता। उन्होंने कहा यह सलाह भी है और हमारे संगठन जागरूक भी हैं, यह अनिवार्य है कि कोई भी व्यक्ति गरबा पंडाल में अपनी पहचान छुपाकर न आए।

लव जिहाद के बढ़ते हुए मामलों को देख कर बरती जा रही है सतर्कता

मध्य प्रदेश समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में लव जिहाद के बढ़ते जा रहे मामलों को देखकर अब हर जगह सतर्कता बरती जा रही है। मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार भी इन मामलों पर रोक लगाने के लिए तमाम प्रयास कर रही है। यही वजह है कि जिन स्थानों पर लव जिहाद की प्रबल संभावना होती है उन स्थानों पर सरकार द्वारा विशेष नजर रखी जा रही है। गरबा पंडाल भी ऐसे ही स्थान है जहां लव जिहाद के मामले सामने आते है।

गरबे का आयोजन करने वाले आयोजक भी बरतेंगे सतर्कता

गरबे का आयोजन करने वाले आयोजक भी इस बार गरबे के दौरान विशेष सतर्कता बरतेंगे। गरबा आयोजकों की प्राथमिकता रहेगी कि कोई भी व्यक्ति अपनी पहचान छुपाकर गरबा पंडाल में प्रवेश ना कर सके, अपने पहचान पत्र के साथ ही गरबा पंडाल में लोग पहुंचे जिससे किसी प्रकार की कोई अव्यवस्था या परेशानी न हो।

उषा ठाकुर गरबा पंडाल आयोजकों को इंदौर में लिख चुकी हैं पत्र

पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर इससे पहले इंदौर में गरबा आयोजकों को पत्र भी लिख चुकी हैं। इस पत्र में उन्होंने लव जिहाद का जिक्र करते हुए आयोजकों से अपील की थी कि वे गरबा में आने वाली युवतियों के पहनावे पर नजर रखें अगर युक्तियों की पोशाक से अंग प्रदर्शन होता है तो उन्हें गरबा में भाग लेने से रोका जाए। इंदौर में इसका असर भी देखने को मिला था। उषा ठाकुर ने इस मुद्दे को लेकर बूथ लेबल पर कार्यकर्ताओं की बैठक भी ली थी।

 

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

 
Sorry, there are no polls available at the moment.

शिवराज सरकार की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने लव जिहाद को लेकर दिया बड़ा बयान उन्होंने कहा कि गरबा लव जिहाद का बड़ा माध्यम बन गया है

भोपाल। लव जिहाद के मामले को लेकर मध्य प्रदेश सरकार की संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने ग्वालियर में एक बड़ा बयान दिया है। संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने कहा है कि गरबा पंडाल लव जिहाद का सबसे बड़ा माध्यम बन गया है इसलिए बिना पहचान पत्र के गरबा पंडाल के अंदर कोई भी अब प्रवेश नहीं कर सकता है। मंत्री उषा ठाकुर गुरुवार को ग्वालियर पहुंची हुई थीं और यहां वे मीडिया से चर्चा कर रही थीं।

कार्यक्रम में शामिल होने ग्वालियर पहुंची थी पर्यटन मंत्री

मध्य प्रदेश सरकार की संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर गुरुवार को ग्वालियर पहुंची थीं। ग्वालियर से उन्हें दतिया जिले में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए जाना था। ग्वालियर पहुंचने पर उनके समर्थकों ने उनका स्वागत किया और यहीं पर पर्यटन मंत्री ने मीडिया से भी बातचीत की। उन्होंने कहा कि सभी लोग सजग और सतर्क रहे गरबे में अब जो भी आए वह अपना परिचय पत्र लेकर आए, बिना परिचय पत्र के वह गरबे में प्रवेश नहीं कर सकता। उन्होंने कहा यह सलाह भी है और हमारे संगठन जागरूक भी हैं, यह अनिवार्य है कि कोई भी व्यक्ति गरबा पंडाल में अपनी पहचान छुपाकर न आए।

लव जिहाद के बढ़ते हुए मामलों को देख कर बरती जा रही है सतर्कता

मध्य प्रदेश समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में लव जिहाद के बढ़ते जा रहे मामलों को देखकर अब हर जगह सतर्कता बरती जा रही है। मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार भी इन मामलों पर रोक लगाने के लिए तमाम प्रयास कर रही है। यही वजह है कि जिन स्थानों पर लव जिहाद की प्रबल संभावना होती है उन स्थानों पर सरकार द्वारा विशेष नजर रखी जा रही है। गरबा पंडाल भी ऐसे ही स्थान है जहां लव जिहाद के मामले सामने आते है।

गरबे का आयोजन करने वाले आयोजक भी बरतेंगे सतर्कता

गरबे का आयोजन करने वाले आयोजक भी इस बार गरबे के दौरान विशेष सतर्कता बरतेंगे। गरबा आयोजकों की प्राथमिकता रहेगी कि कोई भी व्यक्ति अपनी पहचान छुपाकर गरबा पंडाल में प्रवेश ना कर सके, अपने पहचान पत्र के साथ ही गरबा पंडाल में लोग पहुंचे जिससे किसी प्रकार की कोई अव्यवस्था या परेशानी न हो।

उषा ठाकुर गरबा पंडाल आयोजकों को इंदौर में लिख चुकी हैं पत्र

पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर इससे पहले इंदौर में गरबा आयोजकों को पत्र भी लिख चुकी हैं। इस पत्र में उन्होंने लव जिहाद का जिक्र करते हुए आयोजकों से अपील की थी कि वे गरबा में आने वाली युवतियों के पहनावे पर नजर रखें अगर युक्तियों की पोशाक से अंग प्रदर्शन होता है तो उन्हें गरबा में भाग लेने से रोका जाए। इंदौर में इसका असर भी देखने को मिला था। उषा ठाकुर ने इस मुद्दे को लेकर बूथ लेबल पर कार्यकर्ताओं की बैठक भी ली थी।

 

[avatar]