पलारी क्षेत्र में धूमधाम से मनाई गई भगवान बिरसा मुंडा जयंती

जनजाति गौरव दिवस पर पलारी क्षेत्र के युवाओं ने शोभायात्रा निकालकर पारंपरिक अंदाज में मनाई बिरसा मुंडा जयंती

- Advertisement -

पलारी। केवलारी विधानसभा के अंतर्गत पलारी क्षेत्र के आदिवासी युवाओं द्वारा बिरसा मुंडा की जयंती के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित कर बड़े धूमधाम शौभायात्रा निकालकर मनाई गई। आपको बता दें कि युवाओं ने बिरसा मुंडा जयंती को जनजाति गौरव दिवस के रूप में मनाया। पलारी क्षेत्र के भीमगढ़ रोड में स्थित इंडियन पेट्रोल पंप के समीप कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जहां आयोजित कार्यक्रम में बड़ी संख्या में गोंडवाना समाजजन एकत्रित हुए। जहां आदिवासी युवाओं द्वारा दोपहर बाद  कार्यक्रम स्थल से शोभायात्रा पलारी नगर में निकली गई जो गिट्टीखदान, मंडी, पुलिस चौकी, मैरा, खैरा आवास कालोनी, बसस्टैंड होते हुए कार्यक्रम स्थल पहुंची। जहां रैली में बड़ी संख्या में युवा क्षेत्रीय जन शामिल हुए, जो डीजे पर नाचते झूमते गाते हुए चल रहे थे। डीजे के साथ-साथ पारंपरिक अंदाज में ग्रामीण भी नाचते झूमते हुए चल रहे थे। जहां शोभायात्रा का जगह-जगह पुष्पवर्षा से स्वागत किया गया।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की हुई प्रस्तुति

आदिवासी समाज के बालक, बालिकाओं द्वारा पारंपरिक गोंडी नृत्य एवं अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम का किया गया आयोजन

गौरतलब है कि उक्त आयोजित कार्यक्रम में आदिवासी समाज के बालक, बालिकाओं द्वारा पारंपरिक गोंडी नृत्य किया गया एवं अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। साथ ही कार्यक्रम में उपस्थित वक्ताओं ने भगवान बिरसा मुंडा के जीवनकाल मे प्रकाश डालते हुए अपने अपनी-अपनी बात रखी।

जनपद अध्यक्ष रणजीत सिंह ठाकुर समेत सैकड़ों आदिवासी युवाओं एवं गोंगपा के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की रही उपस्थिति

आपको बता दें कि उक्त कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जनपद पंचायत केवलारी के अध्यक्ष रणजीत सिंह ठाकुर एवं पूर्व विधायक एवं गोंडवाना समाज महासभा अध्यक्ष रामगुलाम उईके, विशिष्ट अतिथि के रूप में एम.एल मर्रापे अखिल भारतीय राष्ट्रीय सचिव, नीलेश परते जीएसयू अध्यक्ष, कमलसिंह परते भुमका संघ जिला उपाध्यक्ष, तुलसीराम भलावी भूतपूर्व सरपंच पाथरफोडी, भाजपा मंडल अध्यक्ष कृष्णकुमार ठाकुर, भाजपा नेता नीलेश ठाकुर, मैरा सरपंच मुनिता अनिल भलावी, खैरा सरपंच नीतू उदय ठाकुर, कार्यक्रम अध्यक्ष अनिल भलावी, गोंड़वाना युवा अध्यक्ष दीनू तेकाम, गोंड समाज महासभा ब्लाक उपाध्यक्ष राजकुमार इनवाती, सावन लाल भलावी, संजू अरेवा भूतपूर्व सरपंच ढुटेरा, ज्ञानी लाल मर्रापे, गणेश उईके, ज्ञानी लाल मुरापे, सेवक राम तेकाम, श्रीराम धुर्वे, अनुरोध मुरापे, नारायन भलावी, प्रकाश मलगाम, अखिलेश परते, अभय तेकाम, मनील भलावी, रामप्रसाद कुमरे, शिवलाल मरकाम, हल्कू धुर्वे, परमू भलावी, अनिल धुर्वे, सोहनलाल मरावी, बलराम भलावी, झलकन मर्रापे, श्रीकांत मरावी, सुनील भलावी, भजनलाल मर्सकोले समेत आसपास क्षेत्र के आदिवासी समाज के युवा, बालक बालिकाओं समेत महिलाएं शामिल रहीं।

गौरतलब है कि भगवान बिरसा मुंडा ने अपने जीवन काल मे जल, जंगल, जमीन के रक्षा के लिए शहादत दी थी। इसी तर्ज पर देश के महान नायकों ने कहा कि युवाओं के प्रेरणा स्रोत वीर बिरसा मुंडा के दिखाए मार्ग पर चलने की जरूरत है। उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में एक प्रभावी भूमिका निभाई और जनजातीय समाज को इस आंदोलन से जोड़ा। देश की आजादी और समाज के कल्याण के लिए बलिदान देने को तत्पर रहे बिरसा मुंडा आदिवासी समाज के हितों की रक्षा के लिए सदैव संघर्षरत रहे। देश के लिए उनका योगदान हमेशा स्मरणीय रहेगा। देशभक्ति, पराक्रम व धर्मनिष्ठा के प्रतीक बिरसा मुंडा ने जनजाति अस्मिता व अधिकारों के संरक्षण विदेशी शासन के विरुद्ध उलगुलान आंदोलन शुरू कर समाज को नई दिशा दी।

 

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

 
Sorry, there are no polls available at the moment.

जनजाति गौरव दिवस पर पलारी क्षेत्र के युवाओं ने शोभायात्रा निकालकर पारंपरिक अंदाज में मनाई बिरसा मुंडा जयंती

पलारी। केवलारी विधानसभा के अंतर्गत पलारी क्षेत्र के आदिवासी युवाओं द्वारा बिरसा मुंडा की जयंती के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित कर बड़े धूमधाम शौभायात्रा निकालकर मनाई गई। आपको बता दें कि युवाओं ने बिरसा मुंडा जयंती को जनजाति गौरव दिवस के रूप में मनाया। पलारी क्षेत्र के भीमगढ़ रोड में स्थित इंडियन पेट्रोल पंप के समीप कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जहां आयोजित कार्यक्रम में बड़ी संख्या में गोंडवाना समाजजन एकत्रित हुए। जहां आदिवासी युवाओं द्वारा दोपहर बाद  कार्यक्रम स्थल से शोभायात्रा पलारी नगर में निकली गई जो गिट्टीखदान, मंडी, पुलिस चौकी, मैरा, खैरा आवास कालोनी, बसस्टैंड होते हुए कार्यक्रम स्थल पहुंची। जहां रैली में बड़ी संख्या में युवा क्षेत्रीय जन शामिल हुए, जो डीजे पर नाचते झूमते गाते हुए चल रहे थे। डीजे के साथ-साथ पारंपरिक अंदाज में ग्रामीण भी नाचते झूमते हुए चल रहे थे। जहां शोभायात्रा का जगह-जगह पुष्पवर्षा से स्वागत किया गया।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की हुई प्रस्तुति

आदिवासी समाज के बालक, बालिकाओं द्वारा पारंपरिक गोंडी नृत्य एवं अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम का किया गया आयोजन

गौरतलब है कि उक्त आयोजित कार्यक्रम में आदिवासी समाज के बालक, बालिकाओं द्वारा पारंपरिक गोंडी नृत्य किया गया एवं अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। साथ ही कार्यक्रम में उपस्थित वक्ताओं ने भगवान बिरसा मुंडा के जीवनकाल मे प्रकाश डालते हुए अपने अपनी-अपनी बात रखी।

जनपद अध्यक्ष रणजीत सिंह ठाकुर समेत सैकड़ों आदिवासी युवाओं एवं गोंगपा के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की रही उपस्थिति

आपको बता दें कि उक्त कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जनपद पंचायत केवलारी के अध्यक्ष रणजीत सिंह ठाकुर एवं पूर्व विधायक एवं गोंडवाना समाज महासभा अध्यक्ष रामगुलाम उईके, विशिष्ट अतिथि के रूप में एम.एल मर्रापे अखिल भारतीय राष्ट्रीय सचिव, नीलेश परते जीएसयू अध्यक्ष, कमलसिंह परते भुमका संघ जिला उपाध्यक्ष, तुलसीराम भलावी भूतपूर्व सरपंच पाथरफोडी, भाजपा मंडल अध्यक्ष कृष्णकुमार ठाकुर, भाजपा नेता नीलेश ठाकुर, मैरा सरपंच मुनिता अनिल भलावी, खैरा सरपंच नीतू उदय ठाकुर, कार्यक्रम अध्यक्ष अनिल भलावी, गोंड़वाना युवा अध्यक्ष दीनू तेकाम, गोंड समाज महासभा ब्लाक उपाध्यक्ष राजकुमार इनवाती, सावन लाल भलावी, संजू अरेवा भूतपूर्व सरपंच ढुटेरा, ज्ञानी लाल मर्रापे, गणेश उईके, ज्ञानी लाल मुरापे, सेवक राम तेकाम, श्रीराम धुर्वे, अनुरोध मुरापे, नारायन भलावी, प्रकाश मलगाम, अखिलेश परते, अभय तेकाम, मनील भलावी, रामप्रसाद कुमरे, शिवलाल मरकाम, हल्कू धुर्वे, परमू भलावी, अनिल धुर्वे, सोहनलाल मरावी, बलराम भलावी, झलकन मर्रापे, श्रीकांत मरावी, सुनील भलावी, भजनलाल मर्सकोले समेत आसपास क्षेत्र के आदिवासी समाज के युवा, बालक बालिकाओं समेत महिलाएं शामिल रहीं।

गौरतलब है कि भगवान बिरसा मुंडा ने अपने जीवन काल मे जल, जंगल, जमीन के रक्षा के लिए शहादत दी थी। इसी तर्ज पर देश के महान नायकों ने कहा कि युवाओं के प्रेरणा स्रोत वीर बिरसा मुंडा के दिखाए मार्ग पर चलने की जरूरत है। उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में एक प्रभावी भूमिका निभाई और जनजातीय समाज को इस आंदोलन से जोड़ा। देश की आजादी और समाज के कल्याण के लिए बलिदान देने को तत्पर रहे बिरसा मुंडा आदिवासी समाज के हितों की रक्षा के लिए सदैव संघर्षरत रहे। देश के लिए उनका योगदान हमेशा स्मरणीय रहेगा। देशभक्ति, पराक्रम व धर्मनिष्ठा के प्रतीक बिरसा मुंडा ने जनजाति अस्मिता व अधिकारों के संरक्षण विदेशी शासन के विरुद्ध उलगुलान आंदोलन शुरू कर समाज को नई दिशा दी।

 

[avatar]