लाड़ली लक्ष्मी योजना की बालिकाओं से मिलकर अभिभूत हूँ:मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अंकुर विद्यालय परिसर में बच्चों को अपने हाथ से पिलाया पौष्टिक दूध
आत्मीयता से ओतप्रोत कार्यक्रम में बालिकाओं को वितरित किए प्रमाण-पत्र

भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज राज्यव्यापी पोषण महोत्सव के शुभारंभ के बाद बालिकाओं से वार्तालाप और दुग्ध वितरण कार्यक्रम में शामिल हुए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिवस के अवसर पर प्रदेश में गरीब कल्याण सप्ताह के अन्तर्गत विशेष रूप से आंगनवाड़ियों में दुग्ध वितरण किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस कार्यक्रम में लाड़ली लक्ष्मी योजना लाभान्वित बालिकाओं से हुई उनकी भेंट सुखदायी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि करीब पंद्रह वर्ष पूर्व लाड़ली लक्ष्मी योजना प्रारंभ की गई थी। वे बालिकाएं जो योजना का लाभ लेकर अब शिक्षा हासिल करते हुए बड़ी कक्षाओं की तरफ बढ़ रही हैं, उनसे मिलना और बातचीत करना जीवन का एक सुखद और यादगार अनुभव है। आज इन लाड़लियों से भेंट कर अभिभूत हूँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अक्षिता, अनुष्का, तेजल, सूर्या, वर्तिका और अन्य बालिकाओं को योजना अंतर्गत प्रमाण-पत्र प्रदान किए। उन्होंने बालिकाओं से पढ़ाई-लिखाई और केरियर निर्माण के बारे में भी बातचीत की। यह कार्यक्रम स्वामी दयानंद नगर के अंकुर विद्यालय परिसर में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी भी उपस्थित थीं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री चौहान और मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने अपने हाथों से बच्चों को सुगंधित और पौष्टिक दूध पिलाया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वर्ष 2005 में मुख्यमंत्री बनने के बाद समाज में बालिकाओं और महिलाओं की स्थिति को देख उनके मन में लाड़ली लक्ष्मी योजना प्रारंभ करने का विचार मन में आया था। आज यह योजना फलीभूत हुई है। परिवार में कन्या के जन्म की खुशियां मनाई जाती हैं। बालिकाओं को बेहतर लालन-पालन और पढ़ाई-लिखाई के लिये सहायता मिलने से उनका मलोबल बढ़ा है। बालिकाएं सशक्त हो रही हैं। इससे बढ़कर प्रसन्नता क्या होगी।

आंगनवाड़ी केन्द्रों को स्वैच्छिक सहयोग मिले

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राजधानी भोपाल से लेकर प्रदेश के गांव-गांव तक आंगनवाड़ी केन्द्र संचालित हैं। ये केन्द्र छोटे बच्चों को स्कूल पूर्व शिक्षा, पोषण आहार देने के साथ उनका उत्साह भी बढ़ाते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के आंगनवाड़ी केन्द्रों को सक्षम बनाने के लिये उनके अपने भवन बनाने, बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने और बेहतर पोषण आहार उपलब्ध करवाने के प्रयास निरंतर किये जा रहे हैं। आंगनवाड़ी केन्द्रों में एक मटका अथवा पात्र रखकर स्वैच्छिक सहयोग भी आमंत्रित किया जा रहा है। इस सामाजिक जिम्मेदारी के अंतर्गत आमजन, शासकीय और अशासकीय संगठन आर्थिक सहायता से लेकर खिलौने, पोषण आहार भी दे सकते हैं। पारिवारिक मांगलिक प्रसंग जैसे जन्मदिन, विवाह, वर्षगांठ के अवसर पर नागरिकगण आंगनवाड़ी बच्चों को लाभान्वित कर खुशियां मना सकते हैं।

बच्चों के चेहरों पर मुस्कान देख मुस्कुराए सभी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वार्ड-31 स्थित आंगनवाड़ी केन्द्र क्रमांक 729 जिला भोपाल में पहुँचकर जब बच्चों को सुगंधित दूध का वितरण किया, बच्चों के चेहरे पर मुस्कान आ गई। बच्चों की प्रसन्नता और स्वाभाविक मुस्कान देखकर सभी उपस्थित अतिथि मुस्कुरा उठे। अंकुर विद्यालय के कार्यक्रम में मंत्री श्रीमती इमरती देवी सहित प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास श्री अशोक शाह, संचालक महिला एवं बाल विकास श्रीमती स्वाति मीणा, कलेक्टर भोपाल श्री अविनाश लवानिया, स्थानीय नागरिक एवं जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

खैरा पलारी ग्राम पंचायत बस स्टैंड में सुलभ शौचालय निर्माण होना चाहिए

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129
.
Close